देहरादून में सिमकार्ड की केवाइसी करवाने के नाम पर ठगे 50 हजार रुपये

Share with your friends
money

सिमकार्ड की केवाइसी करवाने के नाम पर साइबर ठग ने एक व्यक्ति से 50 हजार रुपये की ठगी कर ली। इंद्रानगर निवासी भारत भूषण भट्ट ने पुलिस को बताया कि अज्ञात व्यक्ति ने उन्हें फोन कर कहा कि आपका सिमकार्ड 24 घंटे में बंद हो जाएगा। सिम को चालू रखने के लिए केवाइसी करवानी पड़ेगी। इसके लिए ठग ने क्विक सपोर्ट एप डाउनलोड कर डेविट कार्ड से 10 रुपये का रिचार्ज करने को कहा। रिचार्ज करते ही खाते से 50 हजार रुपये खाते से साफ हो गए। इंस्पेक्टर देवेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

साइबर ठगी के एक अन्य मामले में सुनील चंद्र जखमोला निवासी बंजारावाला ने साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून को एक प्रार्थना पत्र भेजा। सुनील चंद्र ने बताया कि उनको अज्ञात व्यक्ति ने फोन कर खुद को टेलीकाम कंपनी का प्रतिनिधि बताते हुए सिमकार्ड बंद होने की बात कही। साइबर ठग ने केवाइसी एप डाउनलोड करने की बात कही और खाते की जानकारी हासिल करते हुए 69 हजार रुपये उड़ा दिए।

दूसरी ओर धर्मपुर निवासी एक व्यक्ति ने शिकायत दर्ज करवाई कि उन्हें एक अज्ञात व्यक्ति ने फोन कर खुद को बैंक अधिकारी बताया। धनराशि रिफंड करने के नाम पर खाते से साढ़े 26 हजार रुपये निकाल लिए।

गोवंश की हत्या कर मांस बेचने का आरोप

कारगी ग्रांट निवासी साजिद अली ने कुछ व्यक्तियों पर गोवंश हत्या का आरोप लगाया है। एसएसपी को दिए शिकायती पत्र में साजिद अली ने बताया कि क्षेत्र के ही कुछ लोग रात के समय शहर में बेसहारा पशुओं को पकड़कर ले जाते हैं और उनकी हत्या कर अलग-अलग जगह उनका मांस बेचते हैं। उन्होंने बताया कि यह लोग कुछ डेयरी वालों की मदद से बाहर से भी पशु लेकर आ रहे हैं। कई व्यक्ति तो अपने घरों पर ही गाय व भैंसों को काटने का काम कर रहे हैं। आरोपितों के खिलाफ पटेलनगर कोतवाली में शिकायत भी दी गई है, लेकिन पुलिस ने उनके खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की। उन्होंने आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

Share with your friends