उत्तराखंड: चंद रुपयों के लिए किया भाजपा नेता का अपहरण, ऐसे हुआ खुलासा

kidnapped

रुड़की के मंगलौर स्थित मुंडलाना गांव से अपहृत हुए भाजपा नेता को सकुशल बरामद कर लिया है। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि रुपयों के लेन-देन को लेकर विवाद चल रहा था। पुलिस ने दो नामजद और दो अज्ञात आरोपियों के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज किया है। शनिवार दोपहर को मंगलौर कोतवाली क्षेत्र के मुंडलाना गांव निवासी भाजपा ओबीसी मोर्चा के नगर अध्यक्ष बोपिन कश्यप का घर में घुसकर चार बदमाशों ने अपहरण कर लिया गया था।

देर रात मुजफ्फरनगर पुलिस ने कोतवाली पुलिस को सूचना दी कि अपहृत युवक उनके पास है। जिसे कुछ लोग यहां पर छोड़ गए हैं। मुजफ्फरनगर पुलिस ने स्थानीय पुलिस को बताया कि कार सवार कुछ लोग उसे पुलिस के पास छोड़ कर चले गए। जब तक पुलिस उन्हें रोकती आरोपी कार में बैठ कर निकल गए। इस मामले में देर रात भाजपा नेता की भाभी रेशमा की तहरीर पर पुलिस ने अमजद और जाकिर निवासी ग्राम मुंडलाना और दो अन्य अज्ञात के खिलाफ घर में घुसकर देवर के अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया। एसएसआई रफत अली का कहना है कि जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

12 हजार रुपये का था लेनदेन
भाजपा नेता के अपहरण में पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया है कि कुछ हजार रुपये को लेकर विवाद हुआ था। पीड़ित द्वारा पुलिस को बताया गया कि वह एक ऑनलाइन कंपनी का अभिकर्ता है, जिसने कई सदस्य कंपनी के लिए बनाए हैं। इनमें गांव का ही एक युवक भी है। युवक ने अन्य लोगों को सदस्य बनाया।

जिसके बाद उनको कंपनी से कमीशन आदि भी मिला। लेकिन तकनीकी कारणों से उनका कमीशन बंद हो गया। जिसके चलते आरोपी युवक से बात करने के स्थान पर उस पर दबाव बनाने लगे। इस पर आरोपियों को उसने पहले कहा था कि वह केवल युवक के प्रति जवाबदेह बन सकता है। यदि उनके साथ कोई भी समस्या है तो वह युवक के साथ बात करें।
लेकिन आरोपी नहीं माने तथा लगातार उसे धमकी दे रहे थे। जिसके बाद आरोपियों ने शनिवार को उसके घर में घुसकर उसके साथ अभद्रता करते हुए तमंचे के बल पर उसका अपहरण कर लिया। बताया गया कि मामला 12 हजार रुपये का है।