शादी टूटने से नाराज सिपाही ने की फायरिंग, मंगेतर के भाई की मौत, मां की हालत गंभीर

soldier broke firing

शादी का रिश्ता टूटने से खफा विशेष सशस्त्र बल (एसएएफ) के सिपाही गूगलवाड़ा (रायसेन) निवासी 28 वर्षीय अजीत पुत्र रोखम सिंह चौहान ने मंगलवार रात मंगेतर के घर जाकर सरकारी राइफल से खून की होली खेली। गोली लगने से मंगेतर के भाई की मौत हो गई और मां की हालत गंभीर है। साहस का परिचय देकर परिवार के लोगों ने सिपाही से राइफल छीनकर उसे कमरे में बंद कर दिया था। शाहपुरा थाना पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर राइफल बरामद कर ली है।

शाहपुरा थाना प्रभारी एमके मिश्रा ने बताया 21 अक्टूबर 2020 को अजीत की सगाई सब्जी फार्म, शाहपुरा निवासी रिंकी पुत्री जगनसिंह धाक़़ड के साथ हुई थी। शादी दो मई 2021 को होना थी। रिंकी एक निजी बैंक में कार्यरत है। रिश्ता तय होने के बाद अजीत, रिंकी पर बंदिशें लगाने लगा। इससे वह परेशान होने लगी थी। अंतत: उसने अजीत से शादी करने से मना ही कर दिया। उधर अजीत रिंकी के दोस्तों को फोन करके उसका रिश्ता टूटने के लिए जिम्मेदार ठहराने लगा। रिंकी ने अजीत के पिता से बात कर रिश्ता समाप्त करने को कहा। वे इसके लिए बातचीत करने एक अप्रैल को आने वाले थे।

हां करने को कहा और मार दी गोली
करीब एक माह से अजीत की ड्यूटी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यालय अरेरा कालोनी पर थी। मंगलवार को ड्यूटी से छूटकर रात करीब 11:30 बजे अजीत राइफल लेकर रिंकी के घर जा धमका। वहां उसने एक बार फिर रिंकी से शादी के लिए हां करने को कहा। रिंकी ने साफ मना कर दिया तो राइफल तानते हुए उसने पूरे परिवार को खत्म करने की धमकी दी। परिवार के लोग कुछ समझा पाते, तभी उसने एक फायर रिंकी के छोटे भाई रितेश पर और दूसरा रिंकी की मां जानकी देवी पर कर दिया। वह तीसरा फायरिंग कर पाता, तभी रिंकी और बड़े भाई मधुसूदन ने उसे काबू कर राइफल छीन ली। अजीत को कमरे में बंद कर वे लोग रितेश और जानकी देवी को लेकर निजी अस्पताल पहुंचे। वहां डाक्टर ने रितेश को मृत घोषिषत कर दिया। जानकी देवी की हालत गंभीर है।