उत्तराखंड: आखिर IFS अफसर को विधानसभा चुनाव के लिए छोड़नी पड़ी सरकारी नौकरी,पढ़े पूरी खबर

ifs-officer-left-government-job

राजनीति के लिए एक वरिष्ठ आईएफएस अफसर ने नौकरी को अलविदा कर दिया। सीसीएफ सनातन सोनकर ने रिटायरमेंट से छह माह पहले ही वीआरएस ले लिया, ताकि वे आगामी विधानसभा चुनाव लड़ सकें। लंबे समय से जलागम में प्रतिनियुक्ति पर तैनात आईएफएस सनातन ने वन विभाग के सिस्टम को लेकर भी नाराजगी जताई है।

सनातन सोनकर मूल रूप से यूपी के रहने वाले हैं और वर्तमान में देहरादून के वसंत विहार क्षेत्र में रहते हैं। वह हरिद्वार जिले से चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं। सनातन सोनकर ने कुछ समय पूर्व ही अपने वीआरएस को लेकर शासन को आवेदन भेजा था। उन्होंने व्यक्तिगत कारणों से नौकरी छोड़ने की बात कही थी। इस पर शासन ने उनके वीआरएस को मंजूरी दे दी। वे 31 अक्टूबर को रिटायर हो जाएंगे। वे करीब दो साल से जलागम में तैनात हैं। 

सनातन ने बताया कि वह अब हरिद्वार से चुनाव की तैयारी में हैं। उन्होंने बताया कि वे लंबे समय से राज्य में मानव-वन्यजीव संघर्ष और स्थानीय लोगों की फसलों को जंगली जानवरों से नुकसान को रोकने के लिए ठोस योजना बनाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन विभाग में रहते ऐसा हो नहीं पाया, अब वे रिटायरमेंट के बाद करेंगे।