कनाडा को भारत ने दी कोरोना वैक्‍सीन की 500,000 खुराक

India sent Vaccine to canada

भारत ने बड़ा दिल दिखाते हुए कनाडा को कोरोना वायरस के टीके भेजे, जिसके बाद उसने भारत को धन्यवाद दिया। एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को मंजूरी दिए जाने के एक हफ्ते बाद भारत से 4 मार्च को कनाडा वैक्‍सीन की 500,000 खुराक पहुंची।

ओकविले की सांसद और सार्वजनिक सेवा और खरीद मंत्री अनीता आनंद ने एक ट्वीट में कहा, “AZ/CoviShield वैक्सीन अब कनाडा में है। भारत के सीरम इंस्टीट्यूट से आज सुबह 500,000 खुराक की पहली किश्त 1.5 मिलियन अधिक खुराक आई। उन सभी को धन्यवाद, जिनकी कड़ी मेहनत से यह हुआ। हम भविष्य के सहयोग के लिए तत्पर हैं।”

उन्‍होंने पहले कहा था कि COVID-19 टीकों की एक और 944,600 खुराक इस सप्ताह कनाडा पहुंच जाएगी, जिनमें से 444,600 खुराक फाइजर की हैं और 500,000 खुराकें AstraZeneca की हैं।

आनंद और उनकी टीम द्वारा कोरोना वायरस वैक्सीन की खरीद के लिए किए गए प्रयासों की सराहना करते हुए पिकरिंग-उक्सब्रिज के सांसद जेनिफर ओ’कोनेल ने कहा, “यह अविश्वसनीय काम है – एस्ट्राजेनेका को पिछले शुक्रवार को मंजूरी दे दी गई थी और मंत्री अनीता, उनकी टीम को धन्यवाद। 5 दिन बाद हमें 1.5 मिलियन अधिक के साथ 500,000 खुराक मिली! अब हम मार्च के अंत तक 6.5 मिलियन से अधिक खुराक प्राप्त करने के लिए तैयार हैं!”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस महीने की शुरुआत में अपने कनाडाई समकक्ष जस्टिन ट्रूडो से बात की और आश्वासन दिया कि भारत हर हाल में कनाडा को COVID-19 वैक्‍सीन देने की पूरी कोशिश करेगा।

इसपर प्रशंसा व्यक्त करते हुए कनाडाई प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर दुनिया COVID-19 को जीतने में कामयाब रही तो यह भारत की जबरदस्त दवा क्षमता के कारण महत्वपूर्ण होगा, और प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व ने दुनिया के साथ इस क्षमता को साझा करने में मदद की”। अपनी भावनाओं के लिए पीएम ट्रूडो ने प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया।

इस महीने की शुरुआत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा कि “प्रिय माननीय पीएम जस्टिन ट्रूडो, मैं भारत और इसके वैक्सीन उद्योग के प्रति आपके शब्दों के लिए धन्यवाद करता हूं। जैसा कि हम कनाडा के लिए मंजूरी का इंतजार कर रहे हैं, मैं आपको विश्वास दिलाता हूं, सीरम से COVISHIELD एक महीने से भी कम समय में कनाडा के लिए उड़ान भरेगी।”