अब जानवरों को भी लगेगा कोरोना वायरस का टीका, रूस ने बनाई दुनिया की पहली वैक्सीन

Share with your friends
covid-19-vaccine-for-animal

कोरोना वायरस का कहर मनुष्यों के अलावा जानवरों को भी झेलना पड़ रहा है। ऐसे में रूस ने अब जानवरों के लिए कोरोना वायरस के खिलाफ दुनिया का पहला टीका बना लिया है। जानवरों के लिए बनाई गई इस नई वैक्सीन का नाम Carnivac-Cov है। देश के कृषि मामलों पर नजर रखने वाली संस्था रोजेलखोनाजोर ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी है।

बता दें कि रूस में पहले से ही मनुष्यों के लिए कोरोना वायरस की तीन टीके उपलब्ध हैं, जिनमें से सबसे लोकप्रिय वैक्सीन स्पुतनिक वी है। मास्को ने दो अन्य वैक्सीन एपिवैककोरोना और कोविवैक को भी आपातकालीन स्वीकृति दी है।

संस्था ने बताया कि जानवरों के लिए कोरोना वैक्सीन कार्निवैक-कोव (Carnivac-Cov) रोजेलखोनाजोर की ही एक इकाई द्वारा विकसित की गई है। रोजेलखोनाजोर के उप प्रमुख कोंस्टेंटिन सवेनकोव ने कहा कि वैक्सीन का क्लिनिकल ट्रायल पिछले साल अक्टूबर में शुरू हुआ था। इसमें कुत्तों, बिल्लियों, आर्कटिक लोमड़ियों, मिंक, लोमड़ियों और अन्य जानवरों को शामिल किया गया था।

ट्रायल के परिणाम में यह बात सामने आई कि वैक्सीन जानवरों के लिए हानिरहित और अत्यधिक प्रतिरक्षात्मक है। जितने जानवरों को टीका लगाया गया था उन सबमें कोरोना वायरस के लिए एंटीबॉडी विकसित हुई। टीकाकरण के बाद प्रतिरक्षण छह महीने तक रहता है। वैक्सीन के बड़े पैमाने पर उत्पादन अप्रैल के शुरू में शुरू हो सकता है।

Share with your friends