Uttarakhand Lockdown: तीन मई के बाद राज्य के इन जिलों में राहत की उम्मीद

Share with your friends

Dekho Yara News:- प्रदेश सरकार lock-down टू समाप्त होने के बाद प्रदेश में शुरू की जाने वाली गतिविधियों को लेकर planing कर रही है। 3 may को समाप्त होने वाले lock-down के बाद सरकार नौ पर्वतीय जिलों में आंशिक राहत देने की पैरवी केंद्र से करेगी। 
आर्थिक गतिविधियों को शुरू करने और छोटे व्यापारियों की income के साधनों को लेकर भी कार्ययोजना बनाई जानी है। प्रदेश को क्या राहत मिल पाती है। इसकी तस्वीर 27 april को PM Narendra Modi की मुख्यमंत्रियों से होने वाली video कांफ्रेंसिंग के बाद ही साफ होगी।

प्रदेश में corona virus संक्रमण की रोकथाम को लेकर उठाए प्रभावी कदमों का असर दिख रहा है। प्रदेश में corona virus अभी पहली स्टेज से आगे नहीं बढ़ा है। सात जिले उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, चंपावत, टिहरी, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में अभी तक एक भी मामला नहीं आया। पौड़ी और अल्मोड़ा में एक-एक मामला आया था। लेकिन 3 week से वहां नया केस नहीं आया है।


सरकार ने lock-down के पहले चरण के समाप्त होने पर केंद्र को इन जिलों में आंशिक राहत देने का प्रस्ताव भेजा था। लेकिन सरकार ने स्वीकार नहीं किया। केंद्र की guide line में राज्य को कुछ आंशिक राहत मिली है। जिसके चलते कड़ी शर्तों के साथ व्यवसायिक और निर्माण संबंधी गतिविधियां शुरू हुई हैं। अब सरकार 3 may के बाद की प्लानिंग में जुट गई है। 

प्रदेश सरकार एक बार फिर नए सिरे से plan तैयार कर रही है। जिसमें नौ जिलों में कुछ शर्तों के साथ व्यवसायिक गतिविधियां खोले जाने की केंद्र से पैरवी की जाएगी। चार संवेदनशाील जिलों देहरादून, ऊधमसिंहनगर, हरिद्वार और नैनीताल में hot-spot जोन में सख्ती रखी जाएगी।

CM लगातार इस दिशा में अधिकारियों को निर्देश दे रहे हैं कि छोटे business की आमदनी को लेकर ठोस planing होनी चाहिए। senior officers के साथ हुई बैठक में उन्होंने इस संबंध में निर्देश भी जारी किए। 

Share with your friends