coronavirus: 8 की बजाय 12 घंटे की हो सकती है job की shift, कानून में बदलाव की तैयारी

Office Hours May Extended में अधिक वक्त बिताने के लिए कमर कसनी पड़ सकती है. क्योंकि Government of India काम के वक्त को 8 घंटे प्रतिदिन से बढ़ाकर 12 करने पर विचार कर रही हैं. यह coronavirus Lockdown Part 2 का तत्काल असर हो सकता है. coronavirus की वजह से हुए लॉकडाउन (Lockdown in India) के चलते मौजूदा वक्त में मजदूरों की कमी हो गई है, जबकि रोजमर्रा के सामानों की demand में तेजी से इजाफा हुआ है. इसीलिए सरकार इसमें बदलाव पर विचार कर रही है. इससे जुड़े 1948 के कानून में बदलाव पर विचार जारी है.

क्या होगा अब  

रिपोर्ट के अनुसार, नया अध्यादेश राज्य सरकारों को प्रतिष्ठानों में employee के काम के घंटे बढ़ाने की छूट देगा. कानून मेंनया बदलाव companies को शिफ्ट बढ़ाने का अधिकार देगा. मौजूदा time में रोजाना 8 घंटे की shift होती है.

सप्ताह में 6 दिन (या 48 घंटे) ही किसी से work कराया जा सकता है. अगर इस प्रस्ताव पर फैसला हो जाता है तो रोजाना की shift 12 घंटे की हो जाएगी.

सप्ताह के 6 दिन (72 घंटे) तक की अनुमति होगी. इसके लिए 1948 के कारखाना अधिनियम में संशोधन करना होगा.

मौजूदा कानून 1948 के अधिनियम की धारा 51 में कहा गया है कि किसी भी वयस्क को किसी कारखाने में कार्य करने के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता है. साथ ही, किसी भी सप्ताह में 48 घंटे से ज्यादा कार्य नहीं कराया जा सकता.

ऐसा क्यों?

रिपोर्ट में आगे यह कहा गया है कि नियोक्ता संगठनों और industry ने सरकार से कार्य के घंटे बढ़ाने का अनुरोध किया है क्योंकि इससे उन्हें मजदूरों की कमी के बाद lockdown की समस्या का समाधान करने में सहायता मिलेगी. आपको यह बता दें कि कई मजदूरों वापस अपने घर चले गए हैं और तुरंत कार्य पर हाजिर नहीं हो सकते हैं.

आर्थिक गतिविधियों को फिर से शुरू करने की government की योजना के तहत कई केंद्रीय मंत्रियों ने Monday से अपने संबंधित कार्यालयों से work फिर से शुरू कर दिया.